,

अमेरिका ने देने से माना किया तो आखिर भारत ने बना लिया अपना GPS सिस्टम

Sponsored 

भारत ने एक बहुत बड़ी उपलब्धि हासिल करके ये साबित कर दिया की हम किसी से काम नहीं है| गुरुवार को ISRO ने श्रीहरिकोटा सेंटर से IRNSS (Independent Regional Navigation Satellite System ) प्रोजेक्ट का आखिरी (7th) नेविगेशन सैटेलाइट लॉन्च किया,  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस सफल अभियान का नाम ‘नाविक’ दिया है जो की भारत के मछुआरों को समर्पित है| अपना GPS प्रणाली होने से भारत देश को सूचना एवं तकनीकी स्तर पर कई लाभ हो सकते हैं, GPS (Global Positioning System) आने से भारत की मेरिका के GPS पर निर्भरता काफी हद तक कम हो जाएगी| चलिए आगे पढ़ते हैं की GPS (Global Positioning System)  भारत के पास आने से भारत को और भारतीय नागरिकों को क्या क्या लाभ होगा

1. कारगिल वार में जब भारत को GPS (Global Positioning System) की जरुरत पड़ी तो यूएस ने देने से माना कर दिया था, जरुरत और अपनी जिद्द से भारत ने आखिर अपना  GPS बनाने में सफलता हासिल कर ही ली.

Via

2. भारत का अपना GPS हो जाने से, भारत दुनिया का  5वां  ऐसा देश हो गया है जिसके पास अपना खुद GPS है.

Via

3. GPS (Global Positioning System) सैटेलाइट सिगनल से लगातार डेटा भेजता रहता हैं, जिसे स्मार्टफोन और दूसरे GPS उपकरणों से भी पढ़ा जा सकता 

Via

4. इस सिस्टम की इतनी छमता होती है की ये बॉर्डर के चारों ओर करीब 1500 किमी छेत्र पर अपनी सिंगनल से कवर कर सकता है

Via

5. IRNSS आ जाने से भारतीय सेना और नेवी को बहुत सहायत मिलेगी, इससे भारतीय सेना और नेवी की ताकत और ज्यादा बढ़ जाएगी

Via

[fblike]
6. आम लोगों को भारत के इस GPS में बहुत फयदा मिलेगा 

Via

7. भारत अपने GPS GPS (Global Positioning System) से दूसरों देशो जरुरत मंद देशो की भी सहायता करेगा

Via

 

Sponsored 

One Comment

Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *